‘इश्क तो पागलपंथी है’ सेंसर बोर्ड में

फ़िल्म-'इश्क तो पागलपंथी है'

इंडियन म्यूजिक के बैनर तले निर्मित भोजपुरी फ़िल्म-‘इश्क तो पागलपंथी है’ सेंसर बोर्ड में चली गई है।चर्चित लोक गायक/अभिनेता समर सिंह,दीक्षा सिंह,रश्मि शर्मा, दीपक सिंह,साहिल राज,साहेब लालधारी व् संतोष पहलवान आदि के अभिनय से सजी इस भोजपुरी फ़िल्म के निर्माता त्रय-धर्मेन्द्र कुमार त्रिपाठी,राधे श्याम तिवारी और ज्ञान यादव हैं।इस फ़िल्म के कोरियोग्राफर जे के तिवारी और संपादक विनोद चौरसिया  हैं।

भोजपुरी फ़िल्म-'इश्क तो पागलपंथी है
भोजपुरी फ़िल्म-‘इश्क तो पागलपंथी है

प्रान्त वाद के कारण उपजी जन समस्याओं को चित्रित करती
इस प्रेम प्रधान फ़िल्म में एक मराठी लड़की दीक्षा पाटिल की कहानी है जो मुम्बई से बनारस घूमने आती है जहाँ उसे वहां के लोक गायक हीरू से प्रेम हो जाता है ,दोनों की मौज मस्ती में ज़िन्दगी गुजरने लगती है इसी क्रम में दीक्षा गर्भवती हो जाती है।बाद में हीरू दीक्षा के साथ मुम्बई चला आता है और यहीं से फ़िल्म का क्लाइमेक्स शुरू हो जाता है।प्रांतवाद के कारण उपजे वैचारिक मतभेद के कारण दोनों प्रेमियों को विभिन्न परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है और अंत में प्यार की जीत होती है,दोनों को समाज स्वीकार कर लेता है।
एक सत्य घटना पर आधारित इस फ़िल्म के लेखक/निर्देशक अविनाश त्रिपाठी और छायाकार ज्ञान यादव हैं।

संवाद प्रेषक:काली दास पाण्डेय.

Related posts

Leave a Comment