थावे विद्यापीठ ने अरविन्द आनंद को पी एच डी की मानद उपाधि से नवाजा

अरविन्द आनंद

सामाजिक कार्यो ,सांस्कृतिक ,परहित परोपकार एवम प्रमाण से जुडी सभी प्रकार की गतिविधयों को मूर्तरूप देनेवाले अरविन्द आनंद को गोपालगंज बिहार स्तिथ थावे विद्यापीठ २३ सदस्य समिति ने भोजपुरी भाषा को बढ़ावा देने तथा कला संस्कृति के माध्यम से समाज में भाईचारा एकता अखंडता सहित अमन शांति स्थापित करने में एक ससक्त भूमिका निभाने के लिए विद्या वाचसपति अर्थात पी एच डी की मानद उपाधि प्रदान किया गया .बता दे की अरविन्द आनंद बचपन से बमुखी प्रतिभाशाली के साथ साथ रचनात्मक कार्यो में गहरी रूचि रखते हुए नजर आये है .बिहार स्तरीय स्कूली एवम कॉलेज स्तरीय शिक्षा अव्वल दर्जे से प्राप्त किया ही साथ साथ व्यव्हार कुशलता एवम सामाजिक सोच की बदौलत एक अच्छा खासा पहचान बनाने में कामयाब रहे . उच्च शिक्षा के संधर्भ में अरविन्द ने दिल्ली से इलेक्ट्रॉनिक्स से इंजिनीअर तो किया ही साथ ही मास मीडिया में पोस्ट डिप्लोमा कर इंजिनीअर के झेत्र में अच्छे स्कोप को दरकिनार करते हुए फिल्म इंडस्ट्री में अपनी किश्मत आजमाने दिल्ली से मुम्बई की ओर रुख कर लिया और कठिन संघर्ष और अपनी कर्मठता की बदौलत फिल्म में लेखन और निर्देशन के झेत्र में काफी सारे सफल निर्देशको एवम लेखको के यहाँ बतौर सहायक एक अच्छी खासी पकड़ बना ली .इसी बिच सामाजिकता में गहरी रूचि रखनेवाले अरविन्द ने अनेको सामाजिक संस्थाओ के सौजन्य से अनगिनत सामाजिक कार्यो को अंजाम देकर एक अदबुध मिशाल कायम किया .उतार चढ़ाव एवम कुपरिस्थियॉ से कभी भी नहीं घबराने वाले आनंद ने अपने कर्म पथ पर अपने आप को सदैव अग्रसर रखा .

 अरविन्द आनंद
अरविन्द आनंद
दर्जनों पुरस्कारों से सम्मानित अरविन्द आनंद अब फिल्म निर्माण के झेत्र में उत्तर गए है और उन्होंने अपनी पहली भोजपुरी फिल्म ‘दुलहिन गंगा पार के’ का निर्माण किया है जिसकी शूटिंग गुजरात में पूरी की गयी और इन दिनों फिल्म के पोस्ट प्रोडक्शन का काम किया जा रहा है . भोजपुरी फिल्म जगत में आये दिन सामान्य तौर पर सिर्फ मनोरंजन के लिए ही फिल्म निर्माण किया जाता रहा है लेकिन निर्माता अरविन्द आनंद फिल्म निर्माण के झेत्र में दर्शको के मनोरंजन के साथ साथ अपने फिल्म के माध्यम से समाज में कई ऐसे मुद्दे है जिनको दर्शको के बिच लाना चाहत्ते है और फिल्म के माध्यम से समाज में एक विशेष जागरूकता अभियान चलाने का लक्ष्य रखते है .निर्माता अरविन्द आनंद ने इस फिल्म के लेखन भी किया है . फिल्म ‘दुलहिन गंगा पार ‘ में सुपरस्टार खेसारी लाल और काजल राघवानी मुख्य भूमिका में है और इस फिल्म से खेसारी लाल की बेटी कृति यादव लांच हो रही है ,जो 7 वर्ष की है .भोजपुरी फिल्मो के बहुचर्चित लेखक निर्देशक अशलम शेख ने इस फिल्म का निर्देशन किया है .इस फिल्म को जल्द प्रदर्शित किया जाएगा

Related posts

One Thought to “थावे विद्यापीठ ने अरविन्द आनंद को पी एच डी की मानद उपाधि से नवाजा”

  1. Okay I’m covenncid. Let’s put it to action.

Leave a Comment