पद्म श्री सिमोन उरांव पर बनने जा रही हिंदी और नागपुरी में फीचर फ़िल्म “द वाटरमैन- सिमोन उरांव”

पद्म श्री सिमोन उरांव पर बनने जा रही हिंदी  और नागपुरी में  फीचर फ़िल्म “द  वाटरमैन- सिमोन उरांव”  इस फिल्म को साहू प्रोडक्शन के बैनर तले बनाई जा रही है फिल्म के निर्देशक विष्णु साहू है फिल्म की शूटिंग सिमोन उरांव के गांव में ही की जाएगी फिल्म बनाने को लेकर पद्मश्री सिमोन उरांव ने अपनी बायोग्राफी  पर फिल्म बनाने की अनुमति साहू प्रोडक्शन को दे दी है फिल्म के प्री प्रोडक्शन का काम जोरों पर चल रहा है जल्द ही फिल्म की शूटिंग झारखंड में  स्थित पद्मश्री सिमोन उरांव के गांव बेड़ो  में किया जाएगा फिल्म निर्देशक विष्णु साहू ने उनके गांव में जाकर पूरी जीवनी पर विस्तार से जानकारी ली और उनके  गांव में भी जाकर देखा जहां तक श्री उरांव नें  अपना काम किया है निर्देशक विष्णु साहू ने कहा कि फिल्म को हाल ही में बने बिहार की कहानी मांझी द माउंटेन मैन के तर्ज पर इस फिल्म को फिल्माया  जायेगा  झारखंड की ऐसी कहानी देश के कोने-कोने तक पहुंचनी चाहिए
पद्म श्री सिमोन उरांव एवं निर्देशक विष्णु साहू
पद्म श्री सिमोन उरांव एवं निर्देशक विष्णु साहू
सिमोन उरांव एक ऐसा नाम जिसे 51  गांव में भगवान की तरह पूजते हैं कई दशक पहले पानी की भारी समस्या से जूझ रहे ग्रामीणों को सिंचाई की भारी समस्या होती थी उस वक्त खेती के अलावा और कोई जीविका चलाने  का जरिया  नहीं था उस वक्त बेड़ो के एक मसीहा ने अपना खून पसीना एक कर लोगों को एकजुट कर कई तालाब और  कुएं बनाएं 51  गांव को जोड़ने वाली उन्होंने 5500 फुट से भी लंबी नहर बनाई और इन  गाओं  में सिंचाई की व्यवस्था हो गई, एक वक्त था जब आदिवासी बहुल इस इलाके के लोग जंगल से लकड़ी काटकर और उसे शहर में बेचकर अपना जीवन यापन करते थे , इन हालात को देखकर सिमोन उरांव ने जल संरक्षण और जंगल बचाओ पर कार्य करने लगे सिमोन उरांव के काम ने ग्रामीणों की जिंदगी बदल कर रख दी ग्रामीण अब सिंचाई के साधन उपलब्ध होने पर बेहतर खेती कर कई दशक  से अपना जीवन यापन करने लगे हैं
पद्मश्री सिमोन उरांव का गांव
पद्मश्री सिमोन उरांव का गांव
सिमोन उरांव को यह सारा काम करने को लेकर तीन  बार जेल भी जाना पड़ा कई लोगों से दुश्मनी भी लेनी  पड़ी  लेकिन उन्होंने हार नहीं माना और 51  गांव की जिंदगी बदल कर रख दी यह सच्ची कहानी रांची के बेड़ो की है सिमोन उरांव को उनके इस बेहतरीन कार्यों के लिये झारखंड सरकार के साथ केंद्र सरकार  ने भी  सराहा और उन्हें कई  सम्मानों के साथ पदम श्री सम्मान से नवाजा गया

Related posts

Leave a Comment