“पहलाज निहलानी को बेवजह परेशान किया जा रहा है।“ – वकील अशोक सरावगी

गोविंदा व पहलाज निहलानी की फिल्म पर १२ नवंबर को सुनवाई बॉम्बे हाईकोर्ट में

मुंबई। गोविंदा,शक्ति कपूर,दिगांगना सूर्यवंशी स्टारर पहलाज निहलानी की फिल्म ‘रंगीला राजा’ को सेंसर बोर्ड ने २० कट दिया है।जिसको लेकर पूर्व सेंसर बोर्ड अध्यक्ष और निर्माता पहलाज निहलानी ने मुंबई के सुप्रसिद्ध वकील अशोक सरावगी द्वारा बॉम्बे हाईकोर्ट में केस दायर किया है। जिसको लेकर उन्होंने शनिवार १० नवंबर २०१८ को सन एंड सेंड होटल,जुहू, मुंबई में एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया था। जहाँ पर फिल्म के कट को दिखाया,जोकि सेंसर बोर्ड द्वारा दिया गया है।

              इस अवसर पर पहलाज निहलानी के वकील अशोक सरावगी ने बताया,” फिल्म में २० कट सेंसर बोर्ड ने दिया है,जिसमें से ११ कट तो बेवजह दिया गया है।एक सीन में गोविंदा ने एक लड़की को केवल एक थप्पड़ मारा है।उसे कट करने को कहा जा रहा है।कुल मिलाकर पहलाज निहलानी को बेवजह परेशान किया जा रहा है। उनको मैनटली,आर्थिक और व्यसायिक सभी ढंग से परेशान किया जा रहा है। अब १२ नवंबर को सुनवाई बॉम्बे हाईकोर्ट में सुनवाई है। इसमें ११ कट तो बिलकुल गलत और बेवजह दिया गया है। “

          पूर्व सेंसर बोर्ड अध्यक्ष और निर्माता पहलाज निहलानी ने कहा,” मैने फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ को बिना कट के पास नहीं किया था,जोकि बीजेपी सरकार चाहती थी। क्यूंकि वह फिल्म उनके फेवर में थी और पंजाब के चुनाव के दौरान उनको फायदा होने वाला था। अब मुझे उसकी सज़ा दी जा रही है।वर्तमान के सेंसर बोर्ड अध्यक्ष प्रसून जोशी भी उनके इशारे पर काम कर रहे है। सेंसर बोर्ड  में ज्यादातर अयोग्य और टेम्परेरी लोग होने के कारण यह तकलीफ हो रही है। फिल्म देखने वालों को ना ही उनका ज्ञान है और ना रूल की जानकारी है। “

            इस अवसर पर गोविंदा ने कहा,” पिछले ९ वर्षों से मेरी किसी भी फिल्म को सिनेमा हाल देखने का मौका नहीं मिला। पता नहीं कौनसे लोग है, जो नहीं चाहते है मेरी कोई फिल्म थिएटर में रिलीज़ हो पाए? कुछ लोग नहीं चाहते ही कि गोविंदा कुछ अच्छा कर पाए या उसका अच्छा हो। “

Related posts

Leave a Comment