बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के साथ बेटे को समझाओ : खेसारीलाल यादव

‘संघर्ष’

पटना। सुपरस्‍टार खेसारीलाल यादव और काजल राघवानी स्‍टरार भोजपुरी फिल्‍म ‘संघर्ष’ इस वीकेंड 24 अगस्‍त से देशभर के सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है। इसको लेकर आज राजधानी पटना स्थित होटल सर्मपण नेस इन में एक संवाददाता सम्‍मेलन में खेसारीलाल यादव ने कहा कि समाज में बहुत ऐसे लोग हैं, जिनका बेटी पैदा होने पर उनका रिएक्‍शन चेंज हो जाता है। वे समझते हैं कि बेटा उनके वंश को आगे बढ़ायेगा। लेकिन बेटियों ने आज से साबित कर दिया है कि वे बेटों से कम नहीं है। इसलिए अगर बेटी को बेटी तरह पालें। उनको विश्‍वास में लेकर आयें तो शायद वो हमारे विश्‍वास को पूरा कर सकती है। यही हमारी फिल्‍म है ‘संघर्ष’,जो बेटी बचाओ– बेटी पढ़ाओ मुहीम को आगे बढ़ायेगी। हम इसके साथ ये भी कहना चाहेंगे कि बेटे को भी समझाईये, ताकि वो हर रास्‍ते चलती लड़की को बहन की तरह‍ समझे। मेरी फिल्‍म रक्षाबंधन पर रिलीज हो रही है। यह हमारे दर्शकों को रक्षाबंधन का उपहार है। इसलिए अपने पूरे परिवार के साथ जाकर यह फिल्‍म देखें।

उन्‍होंने कहा कि यह फिल्‍म समाज के लिए आईना है। इसलिए इसे जरूर देखें। अगर आप देखेंगे तो कहेंगे ऐसी ही फिल्‍में बननी चाहिए। बिना देखे आलोचना भी गलत होती है। अश्‍लीलता के सवाल पर खेसारी ने कहा कि अगर आप इस फिल्‍म को देखेंगे तो दुनिया को बता सकेंगे कि भोजपुरी फिल्‍में भी अच्‍छी बनती है। बिना देखे अगर कोई सवाल करेंगे, तो उसका जवाब हम भी नहीं दे सकेंगे। मैं खुद बुरी फिल्‍में नहीं करता हूं। जब मेरे पास फिल्‍म के लिए ऑफर आता है, तो पहले ये देखता हूं कि इस फिल्‍म से हमारी भोजपुरी को कोई नुकसान तो नहीं होगा। उसके बाद ही मैं फिल्‍मों को ओके करता हूं। इसलिए 24 अगस्‍त को फिल्‍म जरूर देखें। इस फिल्‍म को रत्‍नाकर कुमार, पराग पाटिल और पूरी टीम ने काफी मेहनत की है। यह भोजपुरी की पहली फिल्‍म होगी, जो मल्‍टीप्‍लेक्‍स में भी लगेगी।

वहीं, काजल राघवानी ने कहा कि मेरे लिए यह बेहद चाइलेंजिंग फिल्म थी। इस फिल्‍म को कर के मैंने जाना कि मां बनना कितना चाइलेंजिंग काम है। मां बनने का अनुभव बहुत अच्‍छा होता है। मां बनकर मुझे एहसास हुआ कि बच्‍चों के लिए मां कितना स्‍ट्रगल करती है। मैंने भी मां को बहुत तंग किया है, मगर वो हर बार मुझे माफ कर देती थी।  उन्‍होंने मुझे पालने में काफी स्‍ट्रगल किया। इस चीज को मैं संघर्ष फिल्‍म कर समझ पायी, जो 24 अगस्‍त को रिलीज होगी। आप जरूर देखिये। यह फिल्‍म बेटी के बारे में है। पूरी तरह से सामाजिक पारिवारिक इंटरटेनिंग मूवी है। वहीं, फिल्‍म के निर्माता रत्‍नाकर कुमार ने पत्रकारों से कहा कि ‘संघर्ष’ अपनी भाषा को अच्‍छे ढंग से दिखाने की एक कोशिश है।  इसको लेकर हमने बहुत सारे डिस्‍कशन किये। फिल्‍म की बारिकियों पर हमने खूब ध्‍यान दिया, तब जाकर एक बहुत अच्‍छी फिल्‍म बनाई है। इसलिए हम कहना चाहते हैं कि आप पहले फिल्‍म देखें और खुल कर बतायें कैसी बनी है फिल्‍म। बिना देखें कोई धारना न बनायें। फिल्‍म अच्‍छी है। इसलिए जरूर देखें।

फिल्‍म : संघर्ष

बैनर : वर्ल्डवाइड चैनल और जितेंद्र गुलाटी प्रेजेंट्स

कास्‍ट : खेसारी लाल यादव, काजल राघवानी, ऋतू सिंह, अवधेश मिश्रा, महेश आचार्य, संजय महानंद, निशा झा, रीना रानी, प्रेरणा सुषमा, सुबोध सेठ, देव सिंह, दीपक सिन्हा, सुमन झा, यादवेंद्र यादव।

निर्देशक : पराग पाटिल

निर्माता : रत्नाकर कुमार

पीआरओ : रंजन सिन्हा

संगीतकार :  मधुकर आनंद व धनंजय मिश्रा

गीतकार : प्यारेलाल यादव कवि, आजाद सिंह, पवन पांडेय

सह निर्माता : हेमंत गुप्‍ता

कार्यकारी निर्माता : मुन्ना

लेखक : राकेश त्रिपाठी

छायांकन : आर आर प्रिंस

कोरयिोग्राफी : रिक्की गुप्ता व महेश आचार्य

एक्‍शन : दिलीप यादव

आर्ट : अंजनी तिवारी

Related posts

Leave a Comment