फ़िल्म “सिटी जॉब” छोटे शहरोँ से बड़े शहरों में आकर नौकरी करने वालों का संघर्ष बयान करती है

विक्रम भट के सहायक निर्देशक के रूप में अपना कैरियर शुरू करने वाले ज़ाकिर सिसोदिया का मानना है कि आज के दौर में फिल्म बनाना कोई आसान काम नहीं है। मार्बल के बिज़नस से जुड़े ज़ाकिर यह भी कहते है कि एक निर्देशक को फिल्म के हर डिपार्टमेंट की उचित जानकारी होनी चाहिए क्योंकि एक डायरेक्टर ही जहाज का कप्तान होता है। उसे फिल्म मेकिंग के हर क्षेत्र की इंफॉर्मेशन होना ज़रूरी है। इसी पॉइंट को ध्यान में रखते हुए ज़ाकिर ने फिल्म निर्माण की तमाम बारीकियों और गहराइयों को…

पूरा पढ़िए...