फ़िल्म “सिटी जॉब” छोटे शहरोँ से बड़े शहरों में आकर नौकरी करने वालों का संघर्ष बयान करती है

विक्रम भट के सहायक निर्देशक के रूप में अपना कैरियर शुरू करने वाले ज़ाकिर सिसोदिया का मानना है कि आज के दौर में फिल्म बनाना कोई आसान काम नहीं है। मार्बल के बिज़नस से जुड़े ज़ाकिर यह भी कहते है कि एक निर्देशक को फिल्म के हर डिपार्टमेंट की उचित जानकारी होनी चाहिए क्योंकि एक डायरेक्टर ही जहाज का कप्तान होता है। उसे फिल्म मेकिंग के हर क्षेत्र की इंफॉर्मेशन होना ज़रूरी है। इसी पॉइंट को ध्यान में रखते हुए ज़ाकिर ने फिल्म निर्माण की तमाम बारीकियों और गहराइयों को…

पूरा पढ़िए...

चर्चाओं के बीच : अभिनेता कृत्न अजितेश

अभिनेता कृत्न अजितेश

बाॅलीवुड  में  नित  नये  कलाकारों  का  आगमन  हो  रहा  है,  इसी  क्रम  में  एक  और  नये  व प्रतिभावान अभिनेता कृत्न अजितेश की एंट्री हो गयी है। डैशिंग पर्सनलिटी और बेहद टैलेंटेड कृत्न अजितेश इन दिनों दो नयी भव्य-धमाकेदार हिन्दी फिल्में बतौर नायक अभिनीत कर रहे हैं। इनमें से एक फिल्म ‘मुडेर’ निर्माता महेश कुमार के बैनर ‘ब्लू लाईट फिल्म एंटरटेनमेन्ट’, देवा चलचित्र एवं वाय.एम. प्रोडक्शन के बैनर तले निर्माणाधीन है। मानिक दा निर्देशित इस फिल्म  की  शूटिंग  बहुत जल्द ही विभिन्न लोकेशनों  क्रमशः  मुंबई  के  मढ़  आईलैण्ड,  जलगांव  व कोलकाता…

पूरा पढ़िए...

यूट्यूब पर ट्रेंड कर रहे प्रियेश सिन्हा

प्रियेश सिन्हा

लगभग 4000 एपिसोड से अधिक टीवी सिरियल , 25 से अधिक रियलिटी शो और फिल्मो में अभिनय कर चुके मोस्ट पापुलर फेस आफ पूर्वांचल एक्टर प्रियेश सिन्हा इन दिनों यूट्यूब पर ट्रेंड कर रहे  हैं। हर बार कुछ नया लेकर दर्शकों को रिझाने वाले प्रियेश इन दिनों यूट्यूब पर स्टैंड अप कॉमेडी कर रहे हैं और इनके द्वारा डाले गए कॉमेडी वीडियोज यूट्यूब पर ट्रेंड कर रहा है। ऐसा पहली बार हुआ है जब कोई स्टैंड अप कॉमेडियन यूट्यूब ट्रेंडिंग में शामिल हुआ है। प्रियेश के हर वीडिओज़ को लाखो व्यूज मिल रहे हैं। रियल लाइफ…

पूरा पढ़िए...

अब पत्रकारिता करेगी अभिनेत्री अर्चना प्रजापति।

अर्चना प्रजापति

फ़िल्म जगत और टीवी रिपोर्टर में एक समानता यह है कि आज के दौर में दोनों ही फील्ड ग्लेमर वर्ल्ड में आते हैं । कलाकारों के साथ साथ टी वी एंकर और रिपोर्टर को भी दुनिया भली भांति पहचानती है । ऐसे में नाम और शोहरत के शौकीन लोगो को यह फील्ड हमेशा से आकर्षित करता है । अब खबर यह है कि कई भोजपुरी फिल्मो और धारावाहिको में काम कर चुकी अभिनेत्री अर्चना प्रजापति ने पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रख दिया है और अपने अचूक सवाल सेलिब्रेटियों और…

पूरा पढ़िए...

रवि किशन के  साथ काम करना मेरा सौभाग्‍य : पप्‍पू यादव

पप्‍पू यादव

रवि किशन ने अपने जन्‍मदिन पर नेत्रहीन बच्चियों के बीच किताबें, वस्‍त्र व भोजन का किया वितरण   भोजपुरी स्‍क्रीन के खलनायक‍ सह अभिनेता पप्‍पू यादव ने मेगा स्‍टार रवि किशन के साथ काम करने को अपना सौभाग्‍य बताया। उन्‍होंने कहा कि रवि किशन को देश की लगभग हर भाषाओं में काम करने का अनुभव है। उनकी गिनती देश के उन गिने चुने कलाकारों में होती है, जिन्होंने काफी संघर्ष के बाद न सिर्फ मंजिल पाई, बल्कि देश के कोने-कोने में उनकी भाषा में अपनी आवाज बुलंद की। बता दें कि मंगलवार 17…

पूरा पढ़िए...

विनोद पांडे के किरदार में खूब दर्शकों को खूब भा रहे विक्रांत सिंह राजपूत

विक्रांत सिंह राजपूत

निरहुआ इंटरटेंमेंट की भोजपुरी फिल्‍म ‘बॉर्डर’ का जलवा दूसरे सप्‍ताह में  भी यूपी- बिहार में देखने को मिल रहा है। लोगों को फिल्‍म बेहद पसंद आ रही है। यूं तो फिल्‍म की पूरी कास्‍ट ने अपने शानदार अभिनय से फिल्‍म को दर्शकों के दिलों तक पहुंचाया है। मगर इस मल्‍टी स्‍टारर फिल्‍म में भोजपुरिया फिटनेस आइकॉन विक्रांत सिंह राजपूत का भी जलवा दर्शकों के बीच देखने को मिल रहा है। फिल्‍म ‘बॉर्डर’ में विक्रांत ने विनोद पांडे किरदार हैं, जा आज उनकी पहचान भी बन गई लगती है। वजह है कि दर्शकों को भले उनका रियल…

पूरा पढ़िए...

संजय दत्त की ज़िंदगी किसी फिल्मी कथा से कम नही रही है

संजू इदरिस खत्री द्वारा,,,, दोस्तो संजय दत्त की ज़िंदगी किसी फिल्मी कथा से कम नही रही है राजकुमार ने बायोपिक बना कर निश्चित ही कोई सट्टा नही खेला संजय की ज़िंदगी नामा हर भारतीय जानना चाहता है नाम, शोहरत, पैसा अगर आता है तो नशा, सेक्स, पीछे से दबे पांव आना लाजमी है| जैसे गाड़ी खरीदी तो पेट्रोल लाजमी होगा वेसे ही नाम, शोहरत, पैसा जब पैरों तले आता है तो नशा,लडकिया आना लाजमी होगा| नही तो वह शख्स सन्त ही होगा जो बच निकले इस से ख़ैर संजू पर…

पूरा पढ़िए...

सुनहरे दौर के किस्से सुनाएंगे दीपक दुआ

दीपक दुआ

किस्सागोई की परंपरा अब डिजिटल रूप ले चुकी है। महफिलों से उठ कर रेडियो तक पहुंची किस्सागोई अब मोबाइल ऐप्स के जरिए हर किसी की पहुंच में है। यही कारण है कि स्वीडन मूल की कंपनी ‘स्टोरीटेल’ का ऐप काफी पसंद किया जा रहा है जिसमें फिलहाल हिन्दी, मराठी और अंग्रेजी की बेशुमार रचनाएं सुनी-सुनाई जाती हैं। अब इस ऐप से फिल्म समीक्षक दीपक दुआ भी जुड़ चुके हैं। वह अपने शो ‘सुनहरा दौर विद् दीपक दुआ’ में क्लासिक हिन्दी फिल्मों के बनने-संवरने की बातें और उनसे जुड़ी दिलचस्प यादें…

पूरा पढ़िए...

“102 नॉट आउट” हस्ती गुदगुदाती फ़िल्म  नॉट आउट 

"102 नॉट आउट"

समीक्षक इदरीस खत्री : दोस्तो फ़िल्म से पहले एक छोटी चर्चा ज़रूरी है क्योंकि भारत मे भी अब परिवर्तित सिनेमा का दौर आ गया लग रहा है मिसाल के तौर पर न्यूटन, गुड़गांव, फुकरे, ओक्टोबर अब 102 नॉट आउट कुछ फिल्मो के विषय ही आम इंसान के करीब होते हुवे गुजरते है क्योंकि फ़िल्म या तो मनोरंजक, या तो यथार्थवादी, या सामाजिक परिदृश्य को साकार करती होती है लेकिन कुछ फ़िल्में केवल विषय परक होती है जो कि मनोरंजन के गलियारे से होते हुवे एक सन्देश पहुचाती है दर्शकों तक तो…

पूरा पढ़िए...

हम ‘नमो क्रांति’ के सहायक बनें निर्माता निर्देशक व् लेखक डॉ बी बी राज

'नमो क्रांति'

प्रस्तुति: काली दास पाण्डेय – विश्व सेवा फिल्म्स के बैनर तले बनने वाली फिल्म-‘नमो क्रांति’ की घोषणा के साथ ही राँची( झारखण्ड) की धरती पर क्रियाशील निर्माता,निर्देशक व् लेखक डॉ बी बी राज की चर्चा इन दिनों काफी हो रही है।मूल रूप से चिकित्सा व्यवसाय एवं सामाजिक सांस्कृतिक गतिविधियों से जुड़े डॉ बी बी राज इन दिनों अपनी फिल्म-‘नमो क्रांति’ को लेकर काफी उत्साहित नज़र आते हैं।पिछले दिनों कामड़े(रांची) स्थित उनके कार्यालय में मुझे उनसे बात चीत करने का मौका मिला।प्रस्तुत है बात चीत के प्रमुख अंश: * ‘नमो क्रांति’ के…

पूरा पढ़िए...